आज के आर्टिकल में हम लोग कवराड़ा गांव के बारे में बात करने वाले है जैसा की आप सभी लोग जानते है की हमने पहले भी कई गावो के में जानकारी  बतायी है यह भी कुछ उसी प्रकार से है और यह  स्थान उन लोगो के लिए अधिक महत्वपूर्ण माना गया है जो की भगवान् में आस्था रखते है आज का आर्टिकल  पढ़कर आपको इस गांव के बारे में बहुत ही उपयोगी जानकारी जानने को मिलने वाली है.

kavarada village tamples

हमारे देश में कई सारे स्थान कई बड़े बड़े इतिहासों को समेटे हुए है पर सभी का जिक्र अक्सर कई जगहों पर नहीं किया जाता जबकि हम उन्ही जानकारी का जिक्र करते है जिसके बारे में किसी भी अन्य व्यक्ति ने आपको न बताया हो ताकि आपको सभी क्षेत्रों के बारे में विशेष व उपयुक्त जानकारी प्राप्त हो सके व हम अधिकांश ग्रामीण इलाको से जुडी जानकारी ही आपके साथ शेयर करने का प्रयत्न करते हैं.


कवराड़ा गांव कहा पर स्थित है

यह गांव जालोर जिले में स्थित है और यह एक छोटा सा गांव है जो की आहोर व भूति नामक शहरों के नजदीक में स्थित है यह गांव सड़क के किनारे स्थित है और आस्था का यह एक  प्रमुख केंद्र भी माना जाता है यह पर कई सारे ऐतिहासिक मंदिर भी स्थित है जिसके कारण इस स्थान को बहुत ही अधिक मान्यता प्रदान की जाती हैं.

प्रतिवर्ष सावन के महीने में कई अलग अलग स्थानों से लाखी लोग इस गांव में भगवान् कर दर्शन करने के लिए आते रहते है और इसमें से सबसे अधिक लोग बाबा रामदेवजी के दर्शन के लिए ही आते है.

कवराड़ा का रामदेव जी का मंदिर

यह गांव  छोटा रामदेवरा के नाम से भी जाना जाता है क्युकी यहाँ पर बेहद ही प्रख्यात श्री रामदेव जी का अतिप्राचीन मंदिर स्थित है आज के समय में यह गांव इस मंदिर के कारण ही इतना अधिक प्रख्यात है यह मंदिर कवराड़ा गांव के बिच में स्थित है और यह मंदिर सड़क के किनारे स्थित है जिसके कारण अक्सर राहगीर भी यहाँ पर दर्शन  करने के लिए आते रहते हैं.

इस गांव में रामदेव जी से जुड़े वो सभी प्रोग्राम बेहद ही अच्छे तरीके से किये जाते है जो की रामदेवजी के विश्वप्रसिद्द मंदिर रामदेवरा में मनाये जाते है अक्सर सावन माह में लाखो लोग अलग अलग स्थानों से इस गांव में रामदेवजी के दर्शन के लिए आते रहते है और लोगो का तो यह भी मानना है की इस मंदिर में कोई भी व्यक्ति पूरी तमन्ना और विशवास से कोई भी प्रार्थना करे तो भगवान् उसकी मुराद को पूरा करते है.

यहाँ पर अधिक लोगो के समूह आने पर उसको संघ के नाम से भी जाना जाता है यह लोग बेहद ही प्रसंसा से नाचगाने के साथ बेहद ही ख़ुशी ख़ुशी इस मंदिर में दर्शन करने के लिए आते है इसमें सैकड़ो लोग शामिल होते है जो की सभी लोग बाबा रामदेव जी के सावन माह के दर्शन करने के लिए आते है.

कवराड़ा का मेला

इस गांव में प्रतिवर्ष बाबा रामदेवजी का ग्रामीण मेला भी लगता है माना जाता है की यह मेला आस पास के कई सारे गावो व शहरों के मेले से अधिक बड़ा होता है यह सावन महीने में लगने वाला मेला है और इस मेले में अक्सर लाखो लोग हिस्सा लेते है.

यह मिला श्रद्धालुओं से इतना अधिक भरा हुआ होता है की यहाँ पर एक एक कदम सोच सोचकर रखना पड़ता है क्योकि इस गांव में मेले के दिन पैर रखने तक की जगह नहीं होती इससे आप अंदाजा लगा सकते है की इस मेले में कितने अधिक लोग भगवान् के दर्शन करने के लिए आते है.

इस गांव में मेला साल साल में एक बार  लगता है जो की एक दिन का होता है इस मेले में सभी प्रकार की दुकाने जुले व लौरिया अदि भी लगाई जाती है जहां से आप बेहद ही अच्छी अच्छी चीजे बहुत ही  आसानी से कम कीमत में  खरीद सकते हैं.

कवराड़ा जाने के तरीके

अगर आप खुद के वाहन से इस गावं में आना चाहते है तो बहुत ही आसानी से आ सकते है पर अगर आप बस आदि से इस गांव में आना चाहते है तो इसके लिए हम आपको जो  तरीका बता रहे है उसको अपनाकर आप इस गांव में बहुत ही आसानी से आ सकते है.

इस गावं में आने के लिए आप जालोर, आहोर, सांडेराव आदि से बस में आ सकते है इसके लिए आपको सीधे कवराड़ा के लिए बस मिल जाएगी अगर आपको कवराड़ा के लिए डायरेक्ट बस नहीं मिल पाती तो ऐसे में आप लोग भूति एक गांव है वहा पर उतर  सकते है वहा से कवराड़ा बहुत  नजदीक है इस कारण से भूति से आपको टेक्सी या रिक्शा अदि इस गांव में जाने के लिए मिल जाते है.

यह गांव रोडला और भूति के मध्य में  सड़क के किनारे पर स्थित है जिसके कारण इस गांव में आने जाने के लिए कई सारे वाहन उपलब्ध रहते है जिनकी मदद से आप यहाँ पर आसानी से यात्रा कर सकते हैं.

कवराड़ा का राम मंदिर 

 हालांकि खबर मिली है की कवराड़ा सर्कल में हाल ही में श्री राम मंदिर भी बनाया जा रहा है जिसमे सभी ग्रामीणों के साथ अन्य गांव और शहरों के लोग भी बहुत बढ़ चढ़ कर हिस्सा ले रहे है और माना जा रहा है की कुछ ही दिनों में यहाँ पर मंदिर का काम पूरा हो जायेगा.

जब तक हम कवराड़ा जाकर राम मंदिर को नहीं देखते तब तक हम इस खबर की पूर्ण रूप से पुष्टि नहीं करते पर वास्तव में कवराड़ा एक बेहद ही  पवित्र धार्मिक स्थल है  माना गया है की भगवान् विष्णु के अवतार बाबा रामदेवजी ने इस गांव में भक्ति की थी जिसके कारण इस  गांव में उनका भव्य मंदिर बनाया गया हैं.

Post a Comment

Previous Post Next Post